• Search the Web

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 12

India China Story

मौजूदा परिस्थितियों में चीन के विकल्प पिछले अंक में हमने देखा की भारत के पास सिर्फ दो ही विकल्प हैं। इसके विपरित चीन के पास तीन विकल्प मौजूद हैं। चीन के पास भी पहला विकल्प यही है कि वह हमारी मांग को मानते हुए अप्रैल 2020 की स्थिति में आ जाये और भारत की तरफ एक सच्चे पड़ौसी देष की तरह दोस्ती का हाथ बढ़ाये। परंतु क्या यह संभव है ? क्या चीन अपनी विस्तारवादी नीतियों को छोड़ सकता है?…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 5

India China Story

भारत और चीन के लिए लद्दाख का सामरिक महत्व 2018 में भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेष बने लद्दाख के दक्षिण में जंसकार पर्वतमाला और उत्तर में काराकोरम पर्वतमाला है और बहुत पुराने समय से ही सिल्क रूट के लिए प्रसिद्ध रहा है। भारत और चीन दोनों के लिए लद्दाख का बहुत बड़ा सामरिक महत्व है। भौगोलिक दृष्टि से भारत के सबसे बड़े केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख का हमारे पास कुल इलाका 59 हजार वर्ग किलोमीटर है जबकि गिलगिट बाल्टिस्तान…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 8

India China Story

खारे पानी की पैंगोंगसो झील लेह से 157 किमी और 5 घंटों की दूरी पर स्थित है। इस इलाके का सौंदर्य न केवल भारतीय पर्यटकों को आकर्षित करता रहा है बल्कि दुनियां के तकरीबन हर देष के पर्यटक यहाँ आकर मंत्रमुग्ध हो जाते हैं। यही पैंगोंगसो झील और उसके आसपास के इलाके पर चीन अपनी नजरें गड़ाकर हड़पने का इरादा दिखा रहा है। 235 किमी लम्बी पैंगोंगसो झील की अधिकतम चैड़ाई 5-6 किमी है। इसका लगभग 80 किमी का पष्चिमी…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 7

India China Story

गलवान घाटी और पैंगुंग सो झील डारबुक-ष्योक-डीबीओ सड़क (डी.एस.डी.बी.ओ.) लद्दाख के उत्तरी भाग में दौलत बेग ओल्डी पोस्ट (डी.बी.ओ.) को लेह से जोड़ने वाली सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण 220 किमी लम्बी, सभी मौसमों में इस्तेमाल की जा सकने वाली सड़क है। इस सड़क को सन् 2000 में बनाना शुरू किया गया और 2014 में इसे पूरा करना था परंतु तकनीकि खामियाँ पाई जाने के बाद इस सड़क को अप्रैल 2019 में पूरा किया गया। यह सड़क लेह को दार्बुक और…

Continue reading

  • Delight