अफगानिस्तान मे उथल पुथल का सामरिक असर

Afghanistan and America 1

अफगानिस्तान और भारत एक दूसरे के पड़ोस में स्थित दक्षिण एशियाई क्षेत्रिय सहयोग संगठन (दक्षेस) के दो सदस्य हैं। महाभारत काल में अफगानिस्तान के गांधार (वर्तमान में कंधार) की राजकुमारी का विवाह हस्तिनापुर (वर्तमान दिल्ली) के राजा धृतराष्ट्र से हुआ था। 21वीं सदी में तालिबान के पतन के बाद से भारत ने अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण में रचनात्मक भूमिका निभाई है। 4 अक्टूबर 2011 को दोनो देशों के मध्य हुई बैठक में सामरिक मामले, खनिज संपदा की साझेदारी और तेल और…

Continue reading

Should Financial Planning be Included in School Curriculum?

financial planning in school 2

How will it be if financial planning is included in the school curriculum? Financial literacy is a crucial life skill regardless of who you are or what you do. Students should also understand the fundamentals of money management, including how debt works, why it’s not a good idea to go on a shopping spree with a credit card, how to budget within our means each month, the value of saving, and how to maximize your savings. Nonetheless, relatively little of…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 12

India China Story

मौजूदा परिस्थितियों में चीन के विकल्प पिछले अंक में हमने देखा की भारत के पास सिर्फ दो ही विकल्प हैं। इसके विपरित चीन के पास तीन विकल्प मौजूद हैं। चीन के पास भी पहला विकल्प यही है कि वह हमारी मांग को मानते हुए अप्रैल 2020 की स्थिति में आ जाये और भारत की तरफ एक सच्चे पड़ौसी देष की तरह दोस्ती का हाथ बढ़ाये। परंतु क्या यह संभव है ? क्या चीन अपनी विस्तारवादी नीतियों को छोड़ सकता है?…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 5

India China Story

भारत और चीन के लिए लद्दाख का सामरिक महत्व 2018 में भारत का एक केन्द्र शासित प्रदेष बने लद्दाख के दक्षिण में जंसकार पर्वतमाला और उत्तर में काराकोरम पर्वतमाला है और बहुत पुराने समय से ही सिल्क रूट के लिए प्रसिद्ध रहा है। भारत और चीन दोनों के लिए लद्दाख का बहुत बड़ा सामरिक महत्व है। भौगोलिक दृष्टि से भारत के सबसे बड़े केन्द्र शासित प्रदेश लद्दाख का हमारे पास कुल इलाका 59 हजार वर्ग किलोमीटर है जबकि गिलगिट बाल्टिस्तान…

Continue reading

Immigration to Sweden- Is It Difficult?

Immigration to Sweden

Sweden has one of Europe’s most strict immigration policies. However, it has relaxed immigration requirements except for children under the age of 18 and adults aged 18 to 20 and the residents of Denmark, Finland, Iceland, Norway and the rest of the EU. The easiest way of applying for immigration to Sweden is to apply online. The Swedish Government website states about its migration policy as – Sweden’s migration policy comprises refugee and immigration policy, return policy, support for repatriation…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 4

India China Story

सत्रहवें करमापा को शरण देने से खीझा चीन जनवरी 2000 में जब दलाईलामा का उत्तराधिकारी सत्रहवां करमापा चीन के कब्जे से किसी तरह छूटकर हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में आ गया। दलाइलामा को भारत में शरण देने से नाराज चीन सत्रहवे करमापा के भारत पहुंचने से और झुंझला गया। इसके बाद चीन सरहद पर छुटपुट घटनाएं चलती रहीं। लेकिन 2000 में जब चीन ने अक्साई चीन इलाके की वास्तविक नियंत्रण रेखा के करीब 5 किलोमीटर भीतर पक्की सडक़ बना ली…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 11

India China Story

मौजूदा परिस्थितियों में भारत और चीन के विकल्प पिछले कुछ दिनों में हमने भारत चीन के सम्बंधों के अलग-अलग आयामों का विष्लेषण किया। अब हम इन परिस्थितियों में भारत और चीन के विकल्पों के बारे में चर्चा करेंगे। जहाँ तक भारत का सवाल है हमारे पास सिर्फ दो ही विकल्प हैं। हम या तो हमेषा की भांति चीन की दादागिरी भरी विस्तारवादी नीति के सामने झुकते हुए चीन द्वारा कब्जा की हुई भूमि को छोड़ दें, भूल जायें की अक्साई…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 10

India China Story

दक्षिण चीन सागर- सामरिक दृष्टि पैरासल और स्र्पाटले द्विपसमूह दक्षिण चीन सागर के दक्षिण और पूर्व में स्थित है। ये दोनों द्विप छोटे-छोटे द्विपसमूहों से मिलकर बने हैं जिनपर आसपास के देषों के अलावा चीन भी अपना हक जमाता रहा है। सामरिक दृष्टि से पैरासल और स्र्पाटले द्विपसमूह दक्षिण चीन सागर में प्रवेष और निर्गम को नियंत्रित करते हैं। इसके अलावा वैष्विक समुद्री कानून के अनुसार तट से 200 किमी के समुद्री क्षेत्र पर किसी भी देष का अधिकार विषिष्ट…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 3

India China Story

हम सहते रहे और वो हमें चमकाते रहे। भारत को अपनी कूटनीतिक अक्षम्य भूलों का सिला 1962 में चीन के हाथों लड़े गए आधे अधूरे युद्ध में पराजय से मिला और इससे भी शर्मनाक बात तो यह रही कि श्रीलंका जैैसे अदने से देश ने चीन के साथ हमारी मध्यस्थता कराई। भारत के यह मानने में कई साल गए कि चीन कभी भी हमारा स्वाभाविक मित्र  नहीं बन सकता। वह 1955 से लगातार अपने विस्तारवादी नीतियों पर खुले आम चल…

Continue reading

भारत चीन की कहानी – कर्नल बी बी वत्स की जुबानी – 2

India China and POK

मैदान मेेंं जीतते रहे , लेकिन मेज पर हारते रहे उन्नीस सौ बासठ की लड़ाई में हार और चीनी धोखे के बाद भारतीय राजनेताओं की सोच में बदलाव आया। वो यह कि देश की सीमा को सुरक्षित रखने के लिए मजबूत और सुसज्जित सेना की जरूरत है। इसी बदली हुई सोच का नतीजा 1965 में देखने को मिला। पाकिस्तान ने भारत की कमजोरी को भांपकर हमला किया लेकिन उसे बुरी तरह मुंह की खाना पड़ी। लाल बहादुर शास्त्री के नेतृत्व…

Continue reading